खेल समाचार Mumbai Indians vs Chennai Super Kings के मुकाबले में चेन्नई ने मारी...

Mumbai Indians vs Chennai Super Kings के मुकाबले में चेन्नई ने मारी बाजी, आईपीएल का शानदार आगाज

0

Mumbai Indians vs Chennai Super Kings के रोमांचक मैच में चेन्नई ने मुंबई को 5 विकेट से हराया। टॉस जीतकर गेंदबाजी करने उतरे महेंद्र सिंह धोनी से जब मुरली कार्तिक ने पूछा “पिछले सीजन आप मुंबई के खिलाफ फाइनल में बेहद करीबी से हारे, क्या अब बदला लेने को तैयार हैं?” दरअसल Mumbai Indians vs Chennai Super Kings के आईपीएल में मुकाबला काफी टक्कर का रहा है इस मैच से पहले दोनों के बीच 28 मुकाबले हुए जिसमें से 17 मैच मुंबई इंडियंस ने जीते तो 11 मुकाबले धोनी के ग्यारह प्लेयर ने अपने कब्जे किया। मुरली कार्तिक के यह सवाल पूछने पर धोनी का जवाब कुछ यूं था ” क्रिकेट एक जेंटलमैन गेम है इसमें बदला लेने की कोई बात नहीं होती, हालांकि हम यह ध्यान रखेंगे की जो गलती हमसे पिछले मैचों में हुई वे न दोहराई जाएं।” धोनी इस मैच से मैदान पर 437 दिन बाद लौटे।

Mumbai Indians vs Chennai Super Kings:- चेन्नई सुपरकिंग्स की शुरुआत गेंदबाजी में रही कमजोर, बाद में पकड़ी लय

एक्सपर्ट्स द्वारा शुरू से यह संदेह जताया जा रहा था कि यूनाइटेड अरब देशों के स्टेडियम में बल्लेबाजी काफी बेहतर देखने को मिलेगी। पहले मैच के शुरुआती पलों से यही देखने को मिला जब चेन्नई सुपरकिंग्स के गेंदबाजों के 10 के ऊपर रन रेट से रन बटोरे। इसमें डीकॉक ने मैदान के हर दिशा में रन बनाए। मुंबई इंडियंस का पहला विकेट रोहित शर्मा कप्तान के रूप में गिरा जब पीयूष चावला की गेंद पर वो विकेट थमा बैठे। लेकिन उसके तुरंत बाद ही डीकॉक का विकेट भी चेन्नई सुपरकिंग्स के गेंदबाज सैम करन ने ले लिया। लगातार विकेट गिरने से मुंबई इंडियंस के बल्लेबाज फूक फूक कर बल्लेबाजी करने लगे जिससे उनकी रन रेट में भी गिरावट देखने को मिली। 10 ओवर तक मुंबई इंडियंस का स्कोर 86-2 रहा। उसके बाद मुंबई इंडियंस ने फिर से बल्लेबाजी में गति बढ़ाने का प्रयास किया। जिसमें सौरभ तिवारी और हार्दिक पांड्या कुछ हद तक सफल हो रहे थे लेकिन फिर से दोहरे झटके ने मुंबई को बैकफुट पर ला दिया। इस दौरान फाफ डु प्लेसिस के लिए गए कैच उनके अलर्टनेस को दर्शाता है। यह दोनों कैच बिल्कुल बाउंड्री के पास से लिए गए। इसके कुछ देर बाद हार्दिक के भाई क्रुणाल पंड्या भी अपना विकेट दे चल पड़े। उनको एंगिडी के गेंद महेंद्र सिंह धोनी ने लपका। 20 ओवर के खत्म होने तक Mumbai Indians ने 162 रन 9 विकट के नुकसान पर बनाए।

Mumbai Indians vs Chennai Super kings मुकाबले में चेन्नई सुपरकिंग्स की बल्लेबाजी रही ऐसी

चेन्नई सुपरकिंग्स बल्लेबाजी करने उतरी तो चेन्नई के तरफ से ओपनिंग करने उतरे मुरली विजय और शेन वॉटसन की शुरुआत धीमी एवं खराब रही। चेन्नई का पहला विकेट शेन वॉटसन के रूप में पहले ओवर में 5 के निजी स्कोर पर गिर गया। इसके तुरंत बाद ही मुरली विजय ने भी अपना पैर विकट के आगे पाकर खुद को पगबाधा आउट पाया। हालांकि रिव्यु लेते तो बच सकते थे। इसके बाद चेन्नई की टीम ने खुद को संभाला अंबाती रायुडू और फाफ डु प्लेसिस ने कमाल की बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया। चेन्नई की टीम में सुरेश रैना की गैरमौजूदगी में रायुडू के ऊपर टीम को बैलेंस कराने की जिम्मेदारी थी जिसे उन्होंने बखूबी निभाते हुए टीम को जीत की तरफ लेकर जाने में सक्रिय भूमिका निभाई। दोनों ने 100 रन से ऊपर की साझेदारी करी लेकिन 71 रन के निजी स्कोर पर रायुडू का विकेट गिर गया। यह रन रायुडू ने 48 गेंदों पर बनाया था। इसके बाद धोनी ने सैम करण को अपने जौहर दिखाने का मौका दिया जिन्होंने नाराज नही किया चेन्नई के फैंस को और सिर्फ 6 गेंद पर ताबड़तोड़ 18 रन बनाए। फाफ डु प्लेसिस ने आखिरी ओवर तक अनुभवी बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई सुपरकिंग्स को जिताया। 44 गेंद पर 6 चौके की मदद से 58 रन बनाए।

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version