बंद पड़ी Jet Airways को मिला उसका नया मालिक, फिर से कर सकेगी आसमान की सैर!

0
156
Jet Airways will fly again

Jet Airways को इस कोरोना काल में नया जीवन प्राप्त हुआ है। साल 2019 में ठीक एक साल पूर्व धन राशि की भारी किल्लत से जूझती Jet Airways कंपनी को दिवालिया घोषित कर दिया गया था। कंपनी को उधार देने वाली समूह अर्थात Committee of Creditors ने 17 अक्टूबर 2020 में Jet Airways के लिए बनाए गए ब्रिटेन की कंपनी Kalrock Capital उनके साथ UAE के बिजनेसमैन Murari Lal Jalan के द्वारा बनाई गई रेज्योलूशन प्लान को मंजूरी दे दी गई है।

ई-वोटिंग के जरिए हुआ Jet Airways के रेज्योलूशन प्लान की मंजूरी का फैसला

दिवालिया घोषित हो चुकी जेट Airwaysजेट Airways के रेज्योलूशन प्लान की मंजूरी का फैसला ई-वोटिंग के जरिए किया गया। बतादे की Jet Airways को खरीदने में दो कंसोर्शियम(जब कोई दो या दो से अधिक कंपनी सिर्फ एक मकसद के लिए एक हो जाती है तो उस समूह को कंसोर्टियम कहते हैं।) ने रुचि दिखाई थी। एक कंसोर्टियम Kalrock Capital और Murari Lal Jalan का था तो दूसरा कंसोर्टियम में हरियाणा स्थित फ्लाइट सिमुलेशन तकनीक सेंटर और अबु धाबी की कंपनी इम्पीरियल कैपिटल इन्वेस्टमेंट का था।

यह खबर पर भी रोशनी दें:- नरेंद्र मोदी की फ़िल्म फिर से बड़े पर्दों पर, जानिए

Jet Airways थी कभी भारत की टॉप एयरलाइन्स

नरेश गोयल द्वारा Airways को 1 अप्रैल 1992 को स्थापित किया था। यह बेहद जल्द इस इंडस्ट्री में एयर इंडिया के बाद दूसरी सबसे सफल एयरलाइन्स कंपनी के रूप में पहचानी जाने लगी। लेकिन कभी अपने खेमे में 120 से अधिक विमान लेकर चलने वाला यह समूह 2019 में अपने दिवालिया होने पर मात्र 16 विमानों के साथ रह गई थी। कंपनी पर अपने अंतिम दिनों में जेट विमान का घाटा 5535 करोड़ रुपए का था।

Jet Airways में निवेश के साथ Murari Lal Jalan का होगा प्रथम अनुभव

यूनाइटेड अरब अमीरात के उद्यमी Murari Lal Jalan का Airways में निवेश करने के साथ इस सेक्टर में निवेश करना प्रथम अनुभव होगा। मुरारी लाल जालान ने अपनी शुरुआत परिवार के पेपर मील के कारोबार से की थी। इसके बाद उन्होंने तकरीबन हर तरह के क्षेत्र में अनुभव पाया। Jet Airways में निवेश करने से पूर्व मुरारी लाल ने रियल एस्टेट, माइनिंग, ट्रेडिंग, कंस्ट्रक्शन, एफएमसीजी कंपनियों में भी अपना पैसा डाला है। ये हेल्थकेयर सेक्टर से भी जुड़े हुए हैं तथा अब इनका कारोबार उज्बेकिस्तान में कमर्शियल प्रोडक्ट बनाता है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here