Bharat Bandh:- किसानों का पूरे देश में विरोध प्रदर्शन, 31 किसान संगठन एकजुट

0
118
Bharat Bandh

Bharat Bandh:- कृषि विरोध प्रदर्शन को देखते हुए आज राज्यों में Bharat Bandh का ऐलान किया गया है। संसद में केंद्र सरकार द्वारा पास किए गए कृषि बिल 2020 के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन ने उग्र रूप ले लिया है। जिसके तहत किसान संगठनों की तरफ से भारत बंद का ऐलान किया गया है।

कृषि विरोध प्रदर्शन का सबसे अधिक प्रकोप राजधानी दिल्ली समेत उत्तर प्रदेश एवं पंजाब हरियाणा मे सबसे अधिक देखने को मिल सकता है। देश भर के 31 कृषि संगठन इस कृषि बिल के विरोध में Bharat Bandh में सहयोग कर रहें हैं।

क्यों है यह विरोध?

Bharat Bandh का समर्थन करने उतरे 31 कृषि संगठन का मुख्य विरोध करने का कारण सरकार द्वारा MSP के विषय में साफ न होना है एवं उनका मानना है कि इस बिल के लागू होने से कृषि क्षेत्र बड़े उद्योगपति के अंतर्गत हो जाएगा। हालांकि इस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहते हैं कि विपक्ष किसानों को भटकाने का प्रयत्न कर रहे हैं।

Bharat Bandh में मिला किसानों को 18 राजनीतिक दलों का साथ

Bharat Bandh में किसानों को मात्र कृषि संगठन का ही साथ नहीं बल्कि 18 राजनीतिक दलों का भी समर्थन मिल रहा है। इसमें मुख्य तौर पर NDA की ही पार्टी अकाली दल भी शामिल हैं इसके अलावा कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, TMC, AAP, ओडिसा में काबिज BJD समेत TRS और कई पार्टियां शामिल हैं।

Bharat Bandh पर पंजाब-हरियाणा इस तरह से है तैयार

पंजाब और हरियाणा उत्तर भारत के दो ऐसे राज्यों में शामिल कृषि प्रधान राज्यों में शामिल हैं। यहां मौजूद अधिकांश लोग प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कृषि क्षेत्र से जुड़े हुए हैं। ऐसे में Bharat Bandh का सबसे मुख्य रूप यहीं देखने को मिल सकता है। इसी को ध्यान में रखते हुए दोनों राज्यों के मंत्री इसे कंट्रोल करने में जुटे हुए हैं।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह किसानों को कोरोना को ध्यान में रखते हुए प्रदर्शन करने की नसीहत दी है। साथ में किसानों को भरोसा जताया है कि वे 144 धारा को अवहेलना करने पर भी कोई केस नहीं करेंगे।

दूसरी ओर हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने पुलिस अधिकारियों से बातचीत की है। उन्होंने यह आदेश दिया है कि प्रदेश की पुलिस फोर्स हर स्थिति के लिए तैयार रहें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here